सामान्य रसायन विज्ञान gk part 72 | 50+ gk questions

सामान्य रसायन विज्ञान gk part 72 | 50+ gk questions| कंपटीशन परीक्षा में पूछे जाने वाले सामान्य रसायन विज्ञान के प्रश्न उत्तर | NEET में पूछे जाने वाले सामान्य  रसायन विज्ञान के प्रश्न उत्तर | 11th स्टैंडर्ड के प्रश्न उत्तर |  रसायन विज्ञान के संबंधित संपूर्ण प्रश्न उत्तर – सामान्य रसायन विज्ञान gk part 72

सामान्य रसायन विज्ञान gk part 72

Q. 1. एल्कोहाॅलों तथा फीनाॅलों में अणुभार बढ़ने पर क्वथनांक बढ़ता है जबकि शाखन होने पर क्वथनांक कम हो जाता है क्यों?

Ans. एल्कोहाॅलों तथा फीनाॅलों के क्वथनांक अणुभार में वृद्धि के साथ बढ़ते हैं क्योंकि इससे वांडरवाल बल में वृद्धि होती है एल्कोहाॅलों में, शाखन बढ़ने के साथ-साथ क्वथनांक कम होता है क्योंकि शाखित यौगिकों का पृष्ठ क्षेत्रफल कम होता है जिससे वांडरवाल बल होता हैं।

Q. 2.  निम्न आण्विक द्रव्यमान वाले एल्कोहाॅलों तथा फीनाॅल जल में विलय होते हैं, लेकिन एल्किल समूह का आकार बढ़ने पर इनकी जल में विलयता कम होती है क्यों?

Ans. निम्न आण्विक द्रव्यमान वाले एल्कोहाॅलों तथा फीनाॅल जल के साथ हाइड्रोजन बंध बना लेते हैं यह जल में विलेय होते हैं लेकिन एल्किल समूह जो कि जल प्रतिकर्षी होता है, का आकार बढ़ने पर जल के साथ हाइड्रोजन बंध बनाने की प्रवृत्ति कम होती है अतः जल में विलेयता भी कम हो जाती हैं।

Q. 3. ईथर ज्वलनशील होता है, क्यों?

Ans. ईथर का क्वथनांक बहुत कम होता है अतः यह वाष्पशील होता है तथा इसकी वाष्प का ज्वलन ताप भी बहुत कम होता है इसलिए यह आसानी से आग पकड़ लेता है, इसी कारण यह ज्वलनशील होता है।

Q. 4. बेंजीन डाइऐजोनियम क्लोराइड को जल के साथ उबालने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. बेंजीन डाइऐजोनियम क्लोराइड को जल के साथ उबालने पर फीनाॅल प्राप्त होता है।

Q. 5. सैलिसिलिक अम्ल को सोडालाइम के साथ गर्म करने पर विकार्बोक्सिलीकरण होकर क्या बनता है?

Ans. सैलिसिलिक अम्ल को सोडालाइम के साथ गर्म करने पर विकार्बोक्सिलीकरण होकर फीनाॅल बनता है।0

Q. 6. मेथेन की क्लोरीन से सूर्य के मध्यम प्रकाश की उपस्थिति में क्रिया कराते हैं तो क्या प्राप्त होता है?

Ans. मेथेन की क्लोरीन से सूर्य के मध्यम प्रकाश की उपस्थिति क्रिया कराते हैं तो CH3-Cl प्राप्त होता है।

Q. 7. ऐल्कीन पर हाइड्रोजन हैलाइड की इलेक्ट्रॉन स्नेही योगात्मक अभिक्रिया द्वारा क्या प्राप्त होता हैं?

Ans. ऐल्कीन पर हाइड्रोजन हैलाइड की इलेक्ट्रॉन स्नेही योगात्मक अभिक्रिया द्वारा एल्किल हैलाइड प्राप्त होता है।

Q. 8. पराॅक्साइड प्रभाव किसे कहते हैं?

Ans. पराॅक्साइड की उपस्थिति में H-Br विपरीत मार्कोनिकाॅफ नियम से क्रिया कराता है इसे पराॅक्साइड प्रभात कहते हैं।

यह भी पढ़ें  सामान्य रसायन विज्ञान प्रश्न उत्तर भाग - 49
Q. 9. शुष्क हैलोजन अम्लों की अभिक्रिया एल्कोहाॅलों से कराने पर क्या बनता है?

Ans. शुष्क हैलोजन अम्लों की अभिक्रिया एल्कोहाॅलों से कराने पर ऐल्किल हैलाइड बनता हैं।

Q. 10. फास्फोरस पेंटाक्लोराइड तथा फास्फोरस ट्राई क्लोराइड क्या बनाते हैं?

Ans. फास्फोरस पेंटाक्लोराइड तथा फास्फोरस ट्राई क्लोराइड ऐल्किन फ्लोराइड बनाते हैं।

Q. 11. स्वार्ट अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. ऐल्किन फ्लोराइड प्राप्त करने के लिए ऐल्किन आयोडाइड की अभिक्रिया AgF से करवाई जाती है तथा इस अभिक्रिया को स्वार्ट अभिक्रिया कहते हैं।

Q. 12. प्राथमिक ऐमीन की नाइट्रोसिल क्लोराइड से क्रिया कराने पर क्या बनता है?

Ans. प्राथमिक ऐमीन की नाइट्रोसिल क्लोराइड से क्रिया कराने पर ऐल्किन क्लोराइड बनता है।

Q. 13. थायो ईथर किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. जब सोडियम सल्फाइड अथवा सोडियम मर्केप्टाइट  ऐल्किन हेलाइड से अभिक्रिया करते हैं तो थायो ईथर प्राप्त होता है

Q. 14. एल्केन थायोल कैसे प्राप्त होता हैं।

Ans. सोडियम या पोटैशियम हाइड्रोजन सल्फाइड जब ऐल्किन हैलाइड से क्रिया करते हैं तो एल्केन थायोल प्राप्त होता है।

Q. 15. एस्टर का निर्माण कैसे होता है?

Ans. जब अम्लों के सिल्वर लवणों की अभिक्रिया ऐल्किन हैलाइड से कराते हैं तो एस्टर का निर्माण होता है।

Q. 16. ऐल्किल साइनाइड का निर्माण कैसे होता है?

Ans. एल्कोहाॅली जब ऐल्किन हैलाइड से अभिक्रिया करता है तो ऐल्किल साइनाइड का निर्माण होता है।

Q. 17. ऐल्किल आइसोसायनाइड का निर्माण कैसे होता है?

Ans. जब AgCN की क्रिया ऐल्किन हैलाइड से कराते हैं तो ऐल्किल आइसोसायनाइड का निर्माण होता है।

Q. 18. एल्कोहाॅल किस प्रकार बनता है?

Ans. ऐल्किल हैलाइड की जलीय KOH जलीय AgOH, जलीय Ag2O इत्यादि से क्रिया कराने पर एल्कोहाॅल बनता है।

Q. 19. ऐल्किल नाइट्राइट किस प्रकार बनता है

Ans. जब  सोडियम या पोटेशियम नाइट्राइट ऐल्किल हैलाइड से अभिक्रिया करते हैं तो ऐल्किल नाइट्राइट बनता है।

Q. 20. नाइट्रो ऐल्केन किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. सिल्वर नाइट्राइट जब ऐल्किल हैलाइड से अभिक्रिया करता है तो नाइट्रो ऐल्केन प्राप्त होता है।

Q. 21. ईथर किस प्रकार प्राप्त होता  है?

Ans. जब शुष्क सिल्वर ऑक्साइड ऐल्किल हैलाइड से अभिक्रिया करता है तो ईथर प्राप्त होता है।

Q. 22. ऐमिनों का मिश्रण किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. ऐल्किल हैलाइडों को एल्कोहाॅली अमोनिया के साथ बंद नली में गर्म करने पर अमोनिया का ऐल्किलकरण  होकर ऐमिनों का मिश्रण प्राप्त होता है।

Q. 23. ऐल्किल बेंजीन किस प्रकार प्राप्त होता है?
यह भी पढ़ें  मध्यकालीन भारत के महत्वपूर्ण gk part 2

Ans. जब ऐल्किल हैलाइड निर्जल AlCl3 की उपस्थिति में बेंजीन से अभिक्रिया करते हैं तो ऐल्किल बेंजीन प्राप्त होता है।

Q. 24. ऐरिनियम आयन किसे कहते हैं?

Ans. एरोमेटिक निकाय में यदि कार्बन पर धन आवेश होता है अर्थात् एरोमेटिक निकाय के कार्बोनियम आयन को ऐरिनियम आयन कहते हैं।

Q. 25. विलोपन अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. इन अभिक्रियाओं में किसी अणु से दो परमाणुओं अथवा दो समूहों का विलोपन होता है एवं अणु में असंतृप्त बंध बनता है तो इन्हें विलोपन अभिक्रिया कहते हैं।

Q. 26. ऐल्किन लिथियम किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. ऐल्किल हैलाइड की क्रिया ईथर विलयन की उपस्थिति में लीथियम से करवाने पर ऐल्किन लिथियम प्राप्त होता है।

Q. 27. डाइऐल्कीन जिंक किस प्रकार बनाते हैं?

Ans. हैलोऐल्केन जिंक धातु से क्रिया करके डाइऐल्कीन जिंक बनाता है।

Q. 28. ग्रीन्यार अभिकर्मक किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. शुष्क ईथर विलयन की उपस्थिति में जब Mg धातु ऐल्किन हैलाइड से क्रिया करता है तो ग्रीन्यार अभिकर्मक प्राप्त होता है।

Q. 29. टेट्रा ऐथिललैड किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. जब ऐथिल ब्रोमाइड लैड सोडियम मिश्र धातु से क्रिया करता है तो टेट्रा ऐथिललैड प्राप्त होता है।

Q. 30. डाइहैलोजन व्युत्पन्न किसे कहते हैं?

Ans. किसी ऐल्केन के दो हाइड्रोजन परमाणु हैलोजन परमाणुओं द्वारा प्रतिस्थापित कर दिये जाने पर प्राप्त यौगिक डाइहैलोजन व्युत्पन्न कहलाता है।

Q. 31. डाइहैलोजन व्युत्पन्न को कितने भागों में बांटा गया है?

Ans. डाइहैलोजन व्युत्पन्न को तीन भागों में बांटा गया है।

Q. 32. जैम डाइहैलोजन व्युत्पन्न को किसे कहते हैं?

Ans. दोनों हैलोजन परमाणु एक ही कार्बन पर जुड़े हो तो डाइहैलोजन जैम डाइहैलोजन कहलाते हैं।

Q. 33. विस डाइहैलोजन किस प्रकार बनते हैं?

Ans. CCl4 की उपस्थिति में ऐल्कीन की हैलोजन से अभिक्रिया कराते हैं तो विस डाइहैलोजन बनते हैं।

Q. 34. ऐल्काइन का निर्माण किस प्रकार होता है?

Ans. एल्कोहाॅली KOH से अभिक्रिया करके संगत  ऐल्काइन का निर्माण करते हैं।

Q. 35. हैलोफार्म किसे कहते हैं?

Ans. ट्राई हैलोजन व्युत्पन्नों में क्लोरोफॉर्म एवं आयोडोंफार्म दो महत्वपूर्ण यौगिक हैं जिन्हें हैलोफार्म कहते हैं।

Q. 36. हैलोफार्म अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. जब ऐथिल एल्कोहल अथवा ऐसीटोन को विरंजक चूर्ण तथा जल के साथ गर्म करते हैं तो क्लोरोफॉर्म प्राप्त होता है यह अभिक्रिया हैलोफार्म अभिक्रिया कहलाती है।

Q. 37. शुद्ध क्लोरोफॉर्म किस प्रकार प्राप्त होता है?

Ans. क्लोरोफॉर्म को NaOH के तनु विलियन से धोकर एवं निर्जल CaCl2 से सुखा कर पुनः आसवित करने पर शुद्ध क्लोरोफॉर्म प्राप्त होता है।

यह भी पढ़ें  झारखण्ड सामान्य ज्ञान प्रश्नोतर
Q. 38. Fe + H2O की सहायता से कार्बन टेट्राक्लोराइड का आंशिक अपचयन करने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. Fe + H2O की सहायता से कार्बन टेट्राक्लोराइड का आंशिक अपचयन करने पर क्लोरोफॉर्म प्राप्त होता है।

Q. 39. क्लोरल हाइड्रेट की अभिक्रिया जलीय NaOH से कराने पर यह जल अपघटित होकर क्या बनाता है?

Ans. क्लोरल हाइड्रेट की अभिक्रिया जलीय NaOH से कराने पर यह जल अपघटित होकर क्लोरोफॉर्म बनाता है।

Q. 40. फाॅस्जीन किस प्रकार बनता है?

Ans. प्रकाश की उपस्थिति में क्लोरोफॉर्म वायुमंडलीय ऑक्सीजन से ऑक्सीकृत होकर एक विषाक्त गैस कार्बोनिल क्लोराइड जिसे फाॅस्जीन भी कहते हैं, बनाता है।

Q. 41. क्लोरेटोन किस प्रकार बनता है?

Ans. ऐसीटोन क्लोरोफॉर्म के साथ योगात्मक अभिक्रिया के द्वारा KOH की उपस्थिति में क्लोरेटोन बनता है।

Q. 42. फॉर्मिक अम्ल किस प्रकार बनता है?

Ans. जलीय KOH से अभिक्रिया करके क्लोरोफॉर्म फॉर्मिक अम्ल बनाता है।

Q. 43. क्लोरोपिक्रिन किस प्रकार बनता है?

Ans. सांद्र HNO3 से क्रिया करके क्लोरोफॉर्म क्लोरोपिक्रिन बनाता है।

Q. 44. क्लोरोपिक्रिन क्या है?

Ans. क्लोरोपिक्रिन एक कीटनाशी है।

Q. 45. क्लोरोपिक्रिन का उपयोग किसमें किया जाता है?

Ans. क्लोरोपिक्रिन का उपयोग युद्ध गैस के रूप में किया जाता है।

Q. 46. कार्बन टेट्राक्लोराइड किस प्रकार बनता है?

Ans. सूर्य के प्रकाश की उपस्थिति में क्लोरीन से क्रिया करके कार्बन टेट्राक्लोराइड बनाता है।

Q. 47. कार्बिल ऐमीन किसे कहते हैं?

Ans.  जब क्लोरोफॉर्म को प्राथमिक ऐमीन तथा एल्कोहाॅली KOH के साथ गर्म करते हैं तो अरुचिकर गंध युक्त आइसोसायनाइड बनता है, जिसे कार्बिल ऐमीन कहते हैं।

Q. 48. आइसोसायनाइड परीक्षण किसे कहते हैं?

Ans. इस अभिक्रिया में प्राथमिक एमीन एवं क्लोरोफॉर्म का परीक्षण किया जाता है अतः इसे आइसोसायनाइड परीक्षण कहते हैं।

Q. 49. क्लोरोफॉर्म व फीनाॅल को ऐल्कोहाॅली KOH के साथ गर्म किया जाता है तो क्या बनता है?

Ans. क्लोरोफॉर्म व फीनाॅल को ऐल्कोहाॅली KOH के साथ गर्म किया जाता है तो सैलिसिलैल्डिहाइड बनता है।

Q. 50. आयोडोंफार्म अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. ऐसीटोन अथवा एथिल ऐल्कोहाॅल को आयोडीन एवं NaOH के जलीय विलयन के साथ गर्म करने पर आयोडोंफार्म का पीला अवक्षेक प्राप्त होता है अभिक्रिया  निम्नानुसार पूरी होती है, इस अभिक्रिया को आयोडोंफार्म अभिक्रिया कहते हैं।

Over latest post- सामान्य रसायन विज्ञान gk part 72


Leave a Comment