सामान्य रसायन विज्ञान प्रश्न उत्तर भाग – 76

सामान्य रसायन विज्ञान प्रश्न उत्तर भाग – 76 |कंपटीशन परीक्षा में पूछे जाने वाले सामान्य रसायन विज्ञान के प्रश्न उत्तर | NEET में पूछे जाने वाले सामान्य  रसायन विज्ञान के प्रश्न उत्तर | 11th स्टैंडर्ड के प्रश्न उत्तर |  रसायन विज्ञान के संबंधित संपूर्ण प्रश्न उत्तर 

सामान्य रसायन विज्ञान प्रश्न उत्तर भाग – 76

Q. 1. टाॅलेन अभिकर्मक क्या है?

Ans. अमोनियामय सिल्वर नाइट्रेट का विलियन टाॅलेन अभिकर्मक होता है।

Q. 2. रोजेनमुंड अभिक्रिया से कौन सा एल्डिहाइड प्राप्त नहीं होता है?

Ans. रोजेनमुंड अभिक्रिया से HCHO फाॅर्मेल्डिहाइड प्राप्त नहीं होता है।

Q. 3. कार्बोनिल यौगिक नाभिकस्नेही योगात्मक अभिक्रियाएँ प्रदर्शित करते हैं, क्यों?

Ans. कार्बोनिल यौगिक में प्रथम पद में, नाभिक स्नेही के आक्रमण से बना ऐल्काॅक्साइड आयन, इलेक्ट्रॉन स्नेही के आक्रमण से बने कार्बोकेटायन की तुलना में अधिक स्थाई होता है इसी कारण कार्बोनिल यौगिक नाभिक स्नेही योगात्मक अभिक्रियाएँ प्रदर्शित करते हैं।

Q. 4. मीरवाइन पाॅन्ड्राफ वर्ले अपचयन किसे कहते हैं?

Ans. कीटोन को आइसो प्रोपिल एल्कोहाॅल में एलुमिनियम आइसो प्रोपाॅक्साइड के साथ अभिकृत करवाने पर द्वितीयक एल्कोहाॅल बनता है, इसे मीरवाइन-पाॅन्ड्राफ-वर्ले-अपचयन कहते हैं।

Q. 5. पोपाफ का नियम क्या होता है?

Ans. जब किसी असममित कीटोन के ऑक्सीकरण से दो असमान कार्बोक्सिलिक अम्ल प्राप्त होते हैं तो > C =O समूह छोटे ऐल्किन समूह की तरफ जाता है, इसे पोपाफ का नियम कहते हैं।

Q. 6. एसीटोन तथा बेन्जैल्डिहाइड में विभेद करने वाले परीक्षण कौन-कौन से हैं?

Ans. एसीटोन आयोडोंफार्म परीक्षण देता है जबकि  बेन्जैल्डिहाइड यह परीक्षण नहीं देता, एसीटोन टाॅलेन अभिकर्मक से क्रिया नहीं करता जबकि बेन्जैल्डिहाइड टाॅलेन अभिकर्मक से क्रिया करके रजत दर्पण बनाता हैं।

Q. 7. कार्बोनिल यौगिको की एल्कोहाॅलों के साथ अभिक्रिया में HCl क्यों लिया जाता है?

Ans. हाइड्रोजन क्लोराइड कार्बोनिल समूह की ऑक्सीजन को प्रोटाॅनिकृत करती है जिस से कार्बोनिल समूह की इलेक्ट्रॉन स्नेही प्रवृत्ति बढ़ती है जो एल्कोहाॅल के नाभिक स्नेही आक्रमण को सुगम बनाती है अतः कार्बोनिल यौगिकों की एल्कोहाॅल के साथ अभिक्रिया में HCl लिया जाता है।

Q. 8. फार्मिक अम्ल गुण क्या क्या है जो एल्डिहाइडों के समान है लेकिन अन्य अम्लों में नहीं पाए जाते हैं?

Ans. फार्मिक अम्ल भी, एल्डिहाइडों के समान अपचायक गुण दर्शाता है लेकिन यह गुण अन्य अम्लों में नहीं पाया जाता इसी कारण फॉर्मिक अम्ल KMnO4, K2Cr2O7, टाॅलेन अभिकर्मक तथा मरक्यूरिक क्लोराइड द्वारा ऑक्सीकृत होकर CO2 तथा H2O देता है।

Q. 9. रंजीत दर्पण परीक्षण किसे कहते हैं?

Ans. जब किसी एलीफैटिक या एरोमेटिक एल्डिहाइड को टाॅलेन अभिकर्मक के साथ गर्म करते हैं तो यह धात्विक चांदी में अपचयित हो जाता है यह सिल्वर धातु टेस्ट ट्यूब की दीवारों पर जमा हो जाती है और सिल्वर दर्पण के समान प्रतीत होती है इसलिए यह परीक्षण रजत दर्पण परीक्षण कहलाता है।

यह भी पढ़ें  राजस्थान का सामान्य परिचय part 1
Q. 10. पोपॉफ नियम किसे कहते हैं?

Ans. असममित कीटोन में कीटो समूह छोटे ऐल्किल समूह के साथ रहता है, यह पोपॉफ नियम कहलाता है।

Q. 11. एल्डिहाइड या कीटोन को लाल फास्फोरस तथा हाइड्रो आयोडिक अम्ल के साथ 423K पर गर्म करने पर क्या बनता है?

Ans. एल्डिहाइड या कीटोन को लाल फास्फोरस तथा हाइड्रो आयोडिक अम्ल के साथ 423K पर गर्म करने पर ऐल्केन बनता है।

Q. 12. वोल्फ किश्नर अपचयन अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. जब एल्डिहाइड तथा कीटोन की हाइड्रोजोन को सोडियम ऐथाॅक्साइड के साथ 453K ताप पर गर्म किया जाता है, N2 गैस निकल जाती है और ऐल्केन बनती है यह अभिक्रिया वोल्फ किश्नर अपचयन कहलाती है।

Q. 13. α- हाइड्रोजन किसे कहते हैं?

Ans. कार्बोनिल यौगिको में कार्बोनिल समूह के समीप स्थित कार्बन परमाणुओं से जुड़े हाइड्रोजन परमाणु α- हाइड्रोजन कहलाते हैं।

Q. 14. क्रास कैनिजारों अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. जब दो भिन्न एल्डिहाइड के मध्य कैनिजारों अभिक्रिया होती है तो आसानी से ऑक्सीकृत होने वाला एल्डिहाइड, अम्ल बनाता है तथा दूसरा एल्कोहाॅल बनाता है तथा यह अभिक्रिया क्रास कैनिजारों अभिक्रिया कहलाती है।

Q. 15. टिशेन्को अभिक्रिया किसे कहते हैं?

Ans. किसी भी एल्डिहाइड की अभिक्रिया एलुमिनियम ऐथाक्साइड की उपस्थिति में करवाने पर अम्ल तथा एल्कोहाॅल प्राप्त होते हैं जो परस्पर क्रिया कर एस्टर बनाते हैं, यह टिशेन्को अभिक्रिया कहलाती है।

Q. 16. फार्मेल्डिहाइड का उपयोग किसमें होता है?

Ans. फार्मेल्डिहाइड का उपयोग कीटनाशक के रूप में, कृत्रिम रेजिन तथा बैकलाइट नामक प्लास्टिक को बनाने में काम आता है।

Q. 17. ऐसीटेल्डिहाइड का उपयोग किस में होता है?

Ans. ऐसीटेल्डिहाइड का उपयोग दर्पण के रंजतीकरण, बंद नाक खोलने में तथा औषधि के रूप में काम आता है।

Q. 18. कीटोन का उपयोग किसमें होता है?

Ans. कीटोन का उपयोग की कीटीन के संश्लेषण में, औषधि के रूप में, क्लोरोफॉर्म, आयोड़ोंफार्म बनाने में, नेल पॉलिश रिमूवर के रूप में तथा संश्लेषित रब्बर बनाने में प्राथमिक पदार्थ के रूप में काम आता है।

Q. 19. कार्बोक्सिलिक अम्ल किसे कहते हैं?

Ans. कार्बनिक यौगिक जिनमें -COOH क्रियात्मक समूह उपस्थित होता है, कार्बोक्सिलिक अम्ल कहलाता है।

Q. 20. वसीय अम्ल किसे कहते हैं?

Ans. एलिफेटिक सरचना वाले मोनो कार्बोक्सिलिक अम्लों को वसीय अम्ल कहते हैं।

Q. 21. -COOH समूह से जुड़े कार्बन को क्या कहते हैं?

Ans. -COOH समूह से जुड़े कार्बन को α-कार्बन कहते हैं।

Q. 22. IUPAC नाम पद्धति में एलिफैटिक कार्बोक्सिलिक अम्लों को क्या कहते हैं?

Ans. IUPAC नाम पद्धति में एलिफैटिक कार्बोक्सिलिक अम्लों को ऐल्केनाइक अम्ल कहते हैं।

यह भी पढ़ें  कांग्रेस अधिवेशन : कब और कहाँ gk part 1
Q. 23. ऐल्केन नाइट्राइल का अम्लीय या क्षारीय जल अपघटन करने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. ऐल्केन नाइट्राइल का अम्लीय या क्षारीय जल अपघटन करने पर ऐल्केनाॅइक अम्ल प्राप्त होता है।

Q. 24. ग्रीन्यार अभिकर्मक की कार्बन डाइऑक्साइड से अभिक्रिया करने पर प्राप्त योगोत्पाद का जल अपघटन करने पर क्या बनता है?

Ans. ग्रीन्यार अभिकर्मक की कार्बन डाइऑक्साइड से अभिक्रिया करने पर प्राप्त योगोत्पाद का जल अपघटन करने पर ऐल्केनोइक अम्ल बनता है।

Q. 25. एस्टर का तनु खनिज अम्ल द्वारा जल अपघटन करने पर क्या बनता है?

Ans. एस्टर का तनु खनिज अम्ल द्वारा जल अपघटन करने पर ऐल्केनोइक अम्ल बनता है।

Q. 26. ऐल्केनोयल क्लोराइड का क्षारीय या अम्लीय जल अपघटन करने पर क्या बनता है?

Ans. ऐल्केनोयल क्लोराइड का क्षारीय या अम्लीय जल अपघटन करने पर ऐल्केनोइक अम्ल बनता है।

Q. 27. ऐल्केनोइक एनहाइड्राइड का जब जल अपघटन किया जाता है तो ऐल्केनोइक अम्ल के कितने अणु प्राप्त होते हैं?

Ans. ऐल्केनोइक एनहाइड्राइड का जब जल अपघटन किया जाता है तो ऐल्केनोइक अम्ल के दो अणु प्राप्त होते हैं।

Q. 28. तनु HCl की उपस्थिति में ऐल्केनैमाइड जल अपघटित हो कर क्या देते हैं?

Ans. तनु HCl की उपस्थिति में ऐल्केनैमाइड जल अपघटित हो कर ऐल्केनोइक अम्ल देते हैं।

Q. 29. एस्टरीकरण किसे कहते हैं?

Ans. कार्बोक्सिलिक अम्ल की अभिक्रिया खनिज अम्ल उत्प्रेरक की उपस्थिति में एल्कोहाॅल से करवाने पर ऐल्कीन ऐल्केनाॅएट बनते हैं, यह अभिक्रिया एस्टरीकरण कहलाती है।

Q. 30. कार्बोक्सिलिक अम्ल क्षार के साथ अभिक्रिया करके क्या बनाते हैं?

Ans. कार्बोक्सिलिक अम्ल क्षार के साथ अभिक्रिया करके लवण बनाते हैं।

Q. 31. pKa किसे कहते हैं?

Ans. सुविधा की दृष्टि से Ka के स्थान पर pKa मानों का उपयोग किया जाता है, साम्यावस्था स्थिरांक Ka के ऋणात्मक लघुगणक कों pKa कहते हैं।

Q. 32. फॉर्मिक अम्ल का उपयोग किस में होता है?

Ans. फार्मिक अम्ल का उपयोग कपड़ा रंगाई उद्योग में, अपचायक के रूप में तथा प्रयोगशाला में कार्बन मोनोऑक्साइड बनाने में काम आता है।

Q. 33. एसिटिक अम्ल का उपयोग किसमें होता है?

Ans. एसिटिक अम्ल का उपयोग प्रयोगशाला अभिकर्मक व विलायक के रुप में, सिरके के रूप में घरेलू उपयोग तथा आधार के निर्माण में होता है।

Q. 34. R3N में नाइट्रोजन परमाणु की संकरण अवस्था क्या है?

Ans. R3N में नाइट्रोजन परमाणु की संकरण अवस्था sp3 है।

Q. 35. एथेन नाइट्राइल का LiAlH4 द्वारा अपचयन करने पर प्राप्त उत्पादन कौन सा है?

Ans. एथेन नाइट्राइल का LiAlH4 द्वारा अपचयन करने पर प्राप्त उत्पादन एथिल ऐमीन है।

Q. 36. किसके द्वारा प्राथमिक ऐमीन की पहचान की जाती है?

Ans. CHCl3 + KOH द्वारा प्राथमिक ऐमीन की पहचान की जाती है।

यह भी पढ़ें  बिहार सामान्य ज्ञान भाग - 14
Q. 37. CH3 Mg Br की किस यौगिक के साथ क्रिया से CH3CN बनेगा?

Ans. CH3 Mg Br की Cl – CN यौगिक के साथ क्रिया से CH3CN बनेगा।

Q. 38. CH3CN का अपचयन LiAlH4 द्वारा करवाने पर प्राप्त उत्पाद कौन सा है?

Ans. CH3CN का अपचयन LiAlH4 द्वारा करवाने पर प्राप्त उत्पाद CH3CH2NH2 है।

Q. 39. जलीय HCl द्वारा यूरिया के जल अपघटन से प्राप्त उत्पाद कौन सा है?

Ans. जलीय HCl द्वारा यूरिया के जल अपघटन से प्राप्त उत्पाद NH4Cl है।

Q. 40. सरसों के तेल जैसी गंध वाले यौगिक का सूत्र क्या है?

Ans. सरसों के तेल जैसी गंध वाले यौगिक का सूत्र RNCS है।

Q. 41. एलिफेटिक प्राथमिक ऐमीन पर HNO2 की क्रिया कराने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. एलिफेटिक प्राथमिक ऐमीन पर HNO2 की क्रिया कराने पर एल्कोहाॅल प्राप्त होता है।

Q. 42. एथिल ऐमीन की अभिक्रिया ऐसिटिल क्लोराइड से कराने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. एथिल ऐमीन की अभिक्रिया ऐसिटिल क्लोराइड से कराने पर N-एथिल ऐसीटैमाइड प्राप्त होता है।

Q. 43. प्राथमिक ऐमीन तथा द्वितीयक ऐमीन में विभेद किसके द्वारा किया जाता है?

Ans. प्राथमिक ऐमीन तथा द्वितीयक ऐमीन में विभेद कार्विल ऐमीन अभिक्रिया द्वारा किया जाता है।

Q. 44. C4H11N से कितने प्राथमिक ऐमीन संभव है?

Ans. C4H11N से 4 प्राथमिक ऐमीन संभव है।

Q. 45. N- मेथिल- अमीनो- मेथेन का संरचना सूत्र क्या है?

Ans. N- मेथिल- अमीनो- मेथेन का संरचना सूत्र (CH3)2NH है।

Q. 46. कार्विल ऐमीन अभिक्रिया में क्या बनता है?

Ans. कार्विल ऐमीन अभिक्रिया में आइसोसायनाइड बनता है।

Q. 47. एसिटैमाइड की अभिक्रिया क्षारीय माध्यम में NaO Br के साथ कराने पर क्या प्राप्त होता है?

Ans. एसिटैमाइड की अभिक्रिया क्षारीय माध्यम में NaO Br के साथ कराने पर CH3-NH2 प्राप्त होता है।

Q. 48. CH3-CH(NH2)-CH3 का IUPAC नाम क्या है?

Ans. CH3-CH(NH2)-CH3 का IUPAC नाम 2- प्रोपेनामीना हैं।

Q. 49. सांद्र H2SO4 की उपस्थिति में प्रोपेनाइक अम्ल व हाइड्रेजोइक अम्ल की क्रिया से बने उत्पाद का नाम क्या है?

Ans. सांद्र H2SO4 की उपस्थिति में प्रोपेनाइक अम्ल व हाइड्रेजोइक अम्ल की क्रिया से बने उत्पाद का नाम एथिलऐमीन है।

Q. 50. एथिल ऐमीन के जलीय विलियन का लिटमस किस रंग का हो जाता है

Ans. एथिल ऐमीन के जलीय विलियन का लिटमस नीला रंग का हो जाता है।

Over more GK questions-

सामान्य रसायन विज्ञान प्रश्न उत्तर भाग – 76

Leave a Comment