दक्षिण भारत के प्रमुख राजवंश के gk part 3

दक्षिण भारत के प्रमुख राजवंश के gk part 3 . चोल काल में शालाभोग भूमियो किसे कहा जाता था? चोल काल में देवदान भूमि किसे कहा जाता था? सुल्तान महमूद किस चोल राजा के समकालीन था? राजेंद्र प्रथम का उतराधिकारी कौन था?

दक्षिण भारत के प्रमुख राजवंश के gk part 3

Q 1. चोल काल में शालाभोग भूमियो किसे कहा जाता था.

Ans चोल काल में शालाभोग भूमि किसी विद्यालय की रख रखाव की भूमि को कहा जाता था.

Q 2. चोल काल में देवदान भूमि किसे कहा जाता था?

Ans चोल काल में देवदान भूमि मंदिर को उपहार में दी गई भूमि को कहा जाता था.

Q 3. चोल काल पल्लिच्चंदम भूमि किसे कहा जाता था?

Ans चोल काल में पल्लिच्चंदम भूमि जैन संस्थानों को दान में दी गई भूमि को कहा जाता था.

Q 4. सुल्तान महमूद किस चोल राजा के समकालीन था?

Ans सुल्तान महमूद राजेंद्र प्रथम के समकालीन था.

Q 5. राजेंद्र प्रथम का उतराधिकारी कौन था?
यह भी पढ़ें  दक्षिण भारत के प्रमुख राजवंश के gk part 6

Ans राजेंद्र प्रथम का उतराधिकारी राजेंद्र द्वितीय था.

Q 6. राजेंद्र द्वितीय ने कौनसी उपाधि धारण की थी?

Ans राजेंद्र द्वितीय ने प्रकेसरी व राजकेसरी की उपाधि धारण की थी.

Q 7. राजेंद्र द्वितीय का उतराधिकारी कौन था?

Ans राजेंद्र द्वितीय का उतराधिकारी राजेंद्र तृतीय था.

Q 8. चोल वंश का अंतिम शासक कौन था?

Ans चोल वंश का अंतिम शासक राजेंद्र तृतीय था.

Q 9. चोलों व पश्चिमी चालुक्यों में शांति स्थापित करने की भूमिका किसने निभायी थी?

Ans चोलों व पश्चिमी चालुक्यों में शांति स्थापित करने की भूमिका जयकेस प्रथम ने निभायी थी.

Q 10. चोल प्रशासन में भाग लेने वाले उच्च पदाधिकारियों को क्या कहा जाता था?

Ans चोल प्रशासन में भाग लेने वाले उच्च पदाधिकारियों को पेरुन्दरम कहा जाता था.

Q 11. चोल प्रशासन में भाग लेने वाले निम्न पदाधिकारियों को क्या कहा जाता था?

Ans चोल प्रशासन में भाग लेने वाले निम्न पदाधिकारियों को शेरुन्दरम कहा जाता था.

Q 12. लेखों में उच्च अधिकारीयों को क्या कहा जाता था?
यह भी पढ़ें  बौद्ध धर्म के महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर part 2

Ans लेखों में उच्च अधिकारीयों को उदन्कूतम कहा जाता था.

Q 13. उदन्कूतम का अर्थ के है?

Ans उदन्कूतम का अर्थ सदा राजा के पास रहने वाला था.

Q 14. सम्पूर्ण चोल राज्य कितने मंडलों में विभक्त था?

Ans सम्पूर्ण चोल राज्य 6 मंडलों में विभक्त था.

Q 15. मंडल किसमें विभक्त था?

Ans मंडल कोट्टम में विभक्त था.

Q 16. कोट्टम किसमें विभक्त था?

Ans कोट्टम नाडू में विभक्त था.

Q 17. नाडू किसमें विभक्त था?

Ans नाडू कुर्र्मों में विभक्त था.

Q 18. नाडू की स्थानीय सभा को क्या कहा जाता था?

Ans नाडू की स्थानीय सभा को नाटुर कहा जाता था.

Q 19. नगर की स्थानीय सभा को क्या कहा जाता था?

Ans नगर की स्थानीय सभा को नगरतार कहा जाता था.

Q 20. चोल प्रशासन की मुख्य विशेषता क्या थी?

Ans चोल प्रशासन की मुख्य विशेषता स्थानीय स्वशासन था.

OUR LETEST POST

यह भी पढ़ें  भारत के प्रमुख पर्यटन स्थल gk part 4

Leave a Comment